हे दुःख भंजन मारुति नंदन |Hey Dukh Bhanjan Maruti Nandan Lyrics in Hindi

hey dukh bhanjan lyrics, hey dukh bhanjan maruti nandan lyrics, hey dukh bhanjan lyrics in hindi, hey dukh bhanjan maruti nandan lyrics in hindi, hanuman bhajan lyrics, hey dukh bhanjan maruti nandan song lyrics
SongHey Dukh Bhanjan Maruti Nandan
SingerGulshan Kumar
AlbamShree Hanuman Chalisha
Music onT-series
LanguageHindi

हनुमान जी का यह भजन बहुत अधिक लोकप्रिय है किसी भी भक्ति धाम पर आपको या गाना आसानी से सुनने को मिल जाएगा। गुलशन कुमार द्वारा गाया गया हनुमान जी का यह भजन सुपर डुपर हिट रहा। इस गाने में हनुमान जी से बारंबार यह विनती की गई है, हे पवन पुत्र महावीर हमारे कष्टों को दूर करें और हमारा उद्धार करें। इस भजन के बोल इस प्रकार हैं:

Hey Dukh Bhanjan Maruti Nandan Lyrics

हे दुख भंजन मारुति नंदन
सुन लो मेरी पुकार
पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार ।।2।।

अष्ट सिद्धि नव निधि के दाता
अष्ट सिद्धि नव निधि के दाता
दुखियों के तुम भाग्य विधाता
दुखियों के तुम भाग्य विधाता
सिया राम के काज सवारे
सियाराम के काज सवारे
मेरा कर उद्धार…
पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार

हे दुख भंजन मारुति नंदन
सुन लो मेरी पुकार
पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार ।।

अपरंपार है शक्ति तुम्हारी
अपरंपार है शक्ति तुम्हारी
तुम पर रीझै अवध बिहारी
तुम पर रीझै अवध बिहारी
भक्ति भाव से ध्याऊ तोहे
भक्ति भाव से ध्याऊ तोहे
कर दुखों से पार…
पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार ।।

हे दुख भंजन मारुति नंदन
सुन लो मेरी पुकार
पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार ।।

जपु निरंतर नाम तिहारा
जपु निरंतर नाम तिहारा
अब नहीं छोरू तेरा द्वारा
अब नहीं छोरू तेरा द्वारा
राम भक्त मोहे शरण में लीजै
राम भक्त मोहे शरण में लीजै
भवसागर से ताड़…
पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार ।।

हे दुख भंजन मारुति नंदन
सुन लो मेरी पुकार
पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार ।।

Hey Dukh Bhanjan Maruti Nandan Song:

Hey Dukh Bhanjan Maruti Nandan Mening In Hindi:

हे दुख भंजन मारुति नंदन
सुन लो मेरी पुकार
पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार ।।

अर्थ: हे महावीर मारुति नंदन दुखों को दूर करने वाले मेरी प्रार्थना स्वीकार करें, हे पवनपुत्र आपसे हम बारंबार यही विनती करते हैं।

अष्ट सिद्धि नव निधि के दाता
अष्ट सिद्धि नव निधि के दाता
दुखियों के तुम भाग्य विधाता
दुखियों के तुम भाग्य विधाता
सिया राम के काज सवारे
सियाराम के काज सवारे
मेरा कर उद्धार…
पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार

अर्थ: हे पवन पुत्र बजरंगबली आप आठ सिद्धियों और नौ निधियों के दाता है, आप दुखियों के भाग्य को बनाने वाले हैं। जिस प्रकार आपने श्री राम प्रभु के सभी कार्यों को सवारा है, उसी प्रकार मेरा भी उद्धार करें, यही हमारी आप से बारंबार विनती है।

अपरंपार है शक्ति तुम्हारी
अपरंपार है शक्ति तुम्हारी
तुम पर रीझै अवध बिहारी
तुम पर रीझै अवध बिहारी
भक्ति भाव से ध्याऊ तोहे
भक्ति भाव से ध्याऊ तोहे
कर दुखों से पार…
पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार ।।

अर्थ: हे अंजनी पुत्र महावीर आप की शक्ति अपरंपार है, आप पर अवध बिहारी श्री रामचंद्र जी प्रसन्न रहते हैं। मैं आपका पूरे भक्ति भाव से ध्यान करता हूं, मेरे सारे दुखों को दूर करें , यही मेरी आप से बारंबार विनती है।

जपु निरंतर नाम तिहारा
जपु निरंतर नाम तिहारा
अब नहीं छोरू तेरा द्वारा
अब नहीं छोरू तेरा द्वारा
राम भक्त मोहे शरण में लीजै
राम भक्त मोहे शरण में लीजै
भवसागर से ताड़…
पवनसुत विनती बारम्बार
पवनसुत विनती बारम्बार ।।

अर्थ : हे महावीर बजरंगबली मैं आपके नाम का निरंतर जाप कर रहा हूं अब मैं आपके द्वार को कभी नहीं छोडूंगा । हे राम भक्त आप मुझे अपनी शरण में लीजिए और मुझ पर कृपा कर मुझे भवसागर से पार कर दीजिए, हे पवन पुत्र बजरंगबली यही विनती हमारी आपसे बारंबार है।

राम भक्त बजरंगबली का यह भजन आपको कैसा लगा, हमें कमेंट करके जरूर बताएं और इसे अपने दोस्तों के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि आपके मित्र भी पवन पुत्र की वंदना कर सकें, और राम भक्त महावीर बजरंगबली की कृपा प्राप्त कर सके।
जय श्री राम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here