मन सपना के महल बनावे | Man Sapna Ke Mahal Banawe Lyrics | Pawan Singh

299
0
man sapna ke mahal banawe lyrics, jinigiya ke khela samajh mein na aaye, pawan singh, lyrics in hindi, lyrics
SongMan Sapna Ke Mahal Banawe
SingerPawan Singh
FilmIzzat
LanguageBhojpuri

पवन सिंह का गाना Man Sapna Ke Mahal Banawe उनके सुपरहिट गानों में से एक है, और यह बहुत ज्यादा पसंद किया जाने वाला गाना भी है। विपरीत परिस्थिति होने पर दुनिया आप के साथ कैसा व्यवहार करती है, इस गाने में पवन सिंह ने बखूबी बताया है। इस गाने के बोल इस प्रकार है :

Man Sapna Ke Mahal Banawe Lyrics

मन सपना के महल बनावे
दुनिया ढेला चलावे
जिनिगिया के खेला समझ में ना आवे
जिनिगिया के खेला समझ में ना आवे।।

जब जब दिन बिगड़े पर होला
केहू रोक न पावे
जब जब दिन बिगड़े पर होला
केहू रोक न पावे
जाने का लेखल किस्मत में…
जाने का लेखल किस्मत में ई ना पता चल पावे
जिनिगिया के खेला समझ में ना आवे।।
जिनिगिया के खेला समझ में ना आवे।।

समय हसावे समय रोआवे
समय ही नाच नचावे
समय हसावे समय रोआवे
समय ही नाच नचावे
जानबूझ के ना कोई माली…
जानबूझ के ना कोई माली आपन बगिया जरावे
जिनिगिया के खेला समझ में ना आवे।।
जिनिगिया के खेला समझ में ना आवे।।

बनले के साथी सब केहु होला
बिगड़े पर मुंह घुमावे
बनले के साथी सब केहु होला
बिगड़े पर मुंह घुमावे
सूरज के डूबते परछाई भी…
सूरज के डूबते परछाई भी आपन साथ छोड़ावे
जिनिगिया के खेला समझ में ना आवे।।
जिनिगिया के खेला समझ में ना आवे।।

Jinigiya Ke Khela Samajh Me Na Aave Song

पवन सिंह का गाना Man Sapna Ke Mahal Banawe (Jinigiya Ke Khela Samajh Me Na Aave Lyrics) आपको कैसा लगा। हमें कमेंट करके बताएं। यदि आप किसी गाने का लिरिक्स चाहते तो आप हमें कमेंट कर सकते हैं। यदि आपको यह गाना पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ व्हाट्सएप फेसबुक पर नीचे दिए गए बटनो के द्वारा शेयर करें।

अपना बहुमूल्य समय देने के लिए आपका हृदय से धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here